BOOK YOUR TICKET WITH YTDO

YTDO

JOIN YTDO TOURS

SHORTLY PULISHING

Friday, March 7, 2014


                      पूर्वोंत्तर भारत यात्रा कार्यक्रम
गत वर्ष नवम्बर माह में वाई.टी.डी.ओ. द्वारा 12 दिवसीय पूर्वोतर भारत की यात्रा को पर्यटकों ने बहुत सराहा अतः इस वर्ष पुनः पुर्वोत्तर भारत की यात्रा आयोजित की गयी है जो अपने अनुपम सौन्दर्य के लिए विश्व विख्यात है। यहाँ की यात्रा का आयोजन बहुत सुविधओं के साथ किया गया है।
यात्रा के मुख्य आकर्षणः अतीत का प्राग-ज्योतिषपुर आज का गुवाहाटी शहर है गुवा का अर्थ है सुपारी तथा हाट का अर्थ है बाजार, अर्थात सुपारी का बाजार। असम तथा समस्त पूर्वात्तर भारत का प्रवेश द्वार भी है गुवाहाटी। सांस्कृतिक एवं वाणिज्यिक शहर के रूप में भी गुवाहाटी पूर्व भारत में प्रसि( है। गुवाहाटी में कामाख्या जो कि इस युग की जीवित देवी कहलाती है, जिसके दर्शन पर्यटकों को कराये जायेंगे एवं ब्रहमपुत्रा नदी में नौका द्वारा सूर्यास्त का मनोरम दृश्य एवं नदी पार उमानन्द मंदिर की सैर करायी जायेगी। पर्यटकों को बालाजी मंदिर एवं वीर शिवा मंदिर के दर्शन भी इस यात्रा में कराये जायेंगे। दार्जिलिंग पूर्वोत्तर भारत की रानी है। पश्चिमी बंगाल के उत्तरी कोने में स्थित दार्जिलिंग 7000 पफीट नेपाल और भूटान के निकट पूर्वी हिमालय श्रृखला में है। यहाँ घूमने का नवम्बर माह सबसे उत्तम समय है। गंगतोक एक छोटे से राज्य सिक्किम की राजधनी 5000 पफीट की ऊँचाई पर है गंगतोक भारतवर्ष के लिए प्रकृति का वरदान है। मेघालय राज्य की राजधनी शिलाॅग को पूर्व का स्काॅटलैण्ड भी कहा जाता है। मेघालय का अर्थ होता है (The Abode of Clouds) शिलांग गुवाहाटी से  100 किमी दूर पूर्वी खासी पहाड़ियों में 5000 पफीट की ऊँचाई पर स्थित है। अध्कि वर्षा के कारण यहाँ का सौन्दर्य अतुलनीय है। शिलाॅग की आधुनिकता  का एक कारण यह भी है कि इसके विकास में अंग्रेजांे का योगदान रहा है। सन् 1835 से लेकर 1864 तक अंग्रेजों का जिला मुख्यालय रहे चेरापूंजी की यात्रा के बिना शिलाॅग की यात्रा पूरी नहीं हो सकती यहाँ विश्व में सर्वाध्कि वर्षा होती है। और यहाँ से बंग्लादेश दिखायी देता है। हमारी यह 12 दिवसीय यात्रा का आयोजन सुपरपफास्ट ट्रेनों एवं डीलक्स बसों द्वारा काठगोदाम-न्यूजलपाईगुडी-गुवाहाटी, गुवाहाटी-बरेली के मध्य आयोजित किया जायेगा। काठगोदाम से प्रारम्भ होकर दिल्ली, गुवाहाटी, शिलाॅग एवं चेरापूंजी, गुवाहाटी होते हुए हल्द्वानी में समाप्त होगी। हमारी इस यात्रा में सम्मिलित होने के इच्छुक पर्यटकों से अनुरोध् है कि अग्रिम आरक्षण हेतु 90 दिन पूर्व अग्रिम ध्नराशि रुपया 10,000/- प्रति यात्राी रेखांकित बैंक ड्राफ्रट/चैक द्वारा भेजने की कृपा करें। जो कि वाई.टी.डी.ओ. मालरोड के नाम से होना चाहिए जिससे रेलवे एवं होटल आरक्षण समय से किया जा सके। यात्रा का किराया रुपया 16,500/- वयस्क, 60 वर्ष से अध्कि आयु के वरिष्ठ नागरिकों का किराया रुपये 16,000/- प्रति व्यक्ति एवं 11 वर्ष के कम 4 वर्ष से अध्कि आयु के बच्चों का किराया रुपया 13,500/- प्रति सीट होगा। इसमें सम्मिलित है- रेल एवं बस यातायात, सुविधजनक होटलों में आवास, दार्जिलिंग एवं गंगतोक में सुबह का नाश्ता एवं गाइड पफीस। पर्यटक स्थलोें का प्रवेश शुल्क पर्यटक स्वयं देंगे। आॅनलाइन अग्रिम आरक्षण हेतु पर्यटक हमारे YTDO PNB NAINITAL A/C 2717002100006493 में भी जमा कर सकते हैं।