BOOK YOUR TICKET WITH YTDO

YTDO

JOIN YTDO TOURS

SHORTLY PULISHING

Thursday, March 6, 2014

                                           चलो कैलाश 


 अपनी दुर्गमता की वजह से कैलाश मानसरोवर यात्रा धर्मिक आस्था का तो चरम है ही। प्रकृति के आनन्द का भी चरम है। विडम्बना की बात यही है कि भारत से कैलाश जाना समय व धन दोनों के लिहाज से दुरूह है। कैलाश पर्वत व मानसरोवर झील दोनों ही चीन में हैं। कैलाश-मानसरोवर जाने का नेपाल वाला रास्ता खर्च, समय व तकलीपफ तीनों लिहाज से कम है। यही कारण है कि आज हजारों लोग नेपाल के रास्ते यात्रा करना चाहते हैं। वाई.टी.डी.ओ. की ओर से 2012 एवं 2013 में कैलाश मानसरोवर की यात्रा का सफल आयोजन किया गया। हमारी यात्राओं  की व्यवस्था को पर्यटकों द्वारा सराहा जाना हमें आगामी वर्ष श्रावण मास 2014 में पुनः अपनी तीसरी यात्रा आयोजित करने की प्रेरणा  दे रहा है। इसके साथ-साथ यह वर्ष Tibbetan Horse year का भी वर्ष है जिसकी मान्यता बौद्ध धर्म में वही है जो हिन्दुओं में 12 वर्ष में होने वाले कुम्भ मेले की होती है। इसी से प्रेरित होकर हमारे द्वारा पुनः श्रावण 2014 में 19 जुलाई से 2 अगस्त के मध्य कैलाश मानसरोवर यात्रा का आयोजन किया गया है। हिन्दू धर्म  की इस महान यात्रा में आप सादर आमंत्रित हैं। "हमारे पूर्व पर्यटक के 2013 टूर के अनुभव-जीवन में सपना था कैलाश-मानसरोवर यात्रा, जो इच्छा अब पूरी हुई। जो पिछली अनेकों हिमालयी यात्राओं से कहीं अधिक चुनौती भरी किंतु बेहद आकर्षक थी। पूरी यात्रा नये अनुभव दे गयी हिमालय पारीय Trans Himalaya क्षेत्र को देखने समझने का अनोखा अनुभव, मानस ताल का अद्भुत फैलाव, कैलाश पर्वत का सौन्दर्य सब मन को छू जाने वाले थे। पूरा यात्रा दल आपस में खूब घुल-मिल गया, वाई टी डी ओ के साथी और नेपाल के सहयोगी बहुत अच्छे थे। भोजन व्यवस्था कल्पना से बाहर थी, हरी अधिकारी के हाथ में भोजन का रस भूलाये नहीं भूल सकता। गाईड भाई शंकर अधिकारी का व्यवहार सदा याद रहेगा। रौतेला जी का हर-पल, हर-क्षण का साथ में भूल नहीं सकता। पहाड़ के हम 8 सदस्य शेखर के नेतृत्व में काफी कुछ सीखकर लौटे हैं। डालमा ला (pass) बीते कुछ क्षण सदा-सदा याद आते रहेंगे। समग्र में यह हिमालयी यात्रा न भूलाने लायक रही। सभी यात्रियों को शुभकामनायें।
शुभाकांक्षी- डा॰ ललित मोहन पन्त, ‘पहाड़’ -पिथौरागढ़ मो0 9412952448"


यात्रा कार्यक्रम - 19 जुलाई 2014 प्रातः 8.50 पर सम्पर्क क्रान्ति से दिल्ली हेतु प्रस्थान, रात्रि विश्राम दिल्ली, 20 जुलाईः प्रातःकाल दिल्ली से काठमाण्डू हेतु हवाई जहाज यात्रा। काठमाण्डू में पशुपतिनाथ एवं बुध नीलकंठ दर्शन- काठमाण्डू में रात्रि विश्राम। 

21 जुलाईः श्रावण का पहला सोमवार प्रातःकाल पशुपतिनाथ दर्शन एवं रात्रि विश्राम काठमाण्डू।
 22 जुलाई: न्यालम का सपफरः रात्रि विश्राम न्यालम। 
23 जुलाईः न्यालम में आराम। 
24 जुलाईः न्यालम से न्यू डोंगबा का सपफरः रात्रि न्यू डोगबा। 
25 जुलाईः न्यू डोगबा से मानसरोवर का सफर, रात्रि मानसरोवर।
26 जुलाई: मानसरोवर परिक्रमाः पूजा, हवन, दोपहर के बाद दारचेन की तरफ रवानगीः रात्रि दारचेन में। 
27 जुलाई: कैलाश  पर्वत की प्रदक्षिणा। रात्रि देरापूक। 
28 जुलाई: देरापूक से डोल्मा पास-गौरीकुण्ड-झुथुलपूक, रात्रि झुथुलपूक में। 
 29 जुलाईः तीसरा और अन्तिम दिवस झुथुलपूक-दारचेन-मानसरोवर रात्रि विश्राम। 
30 जुलाईः मानसरोवर से सागा-रात्रि विश्राम। 
31 जुलाईः सागा से न्यालम रात्रि विश्राम। 
1 अगस्त न्यालम से काठमाण्डू, इमीग्रेशन की विधि पूर्ण करके फ्रेंडशिप ब्रिज क्रास करके कोदारी गेट के पास पहुँचने का, दोपहर का भोजन कोदारी में लेकर वहाँ से बस द्वारा काठमाण्डू की तरफः 150 किमी. का सफर, रात्रि विश्रामः काठमाण्डू नेपाल। 2 अगस्तः काठमाण्डू से प्रातः हवाई जहाज से दिल्ली तत्पश्चात सम्पर्क क्रान्ति/रानीखेत एक्सप्रेस से  काठगोदाम/हल्द्वानी हेतु प्रस्थान।

मानसरोवर यात्रा किराये में सम्मिलित है- काठगोदाम-दिल्ली-काठगोदाम रेल टिकट, दिल्ली-काठमाण्डू-दिल्ली हवाई टिकट, काठमाण्डू में एयरपोर्ट से होटल, ट्रांसपोर्ट खर्च, भोजन-ठहरने, ट्रांसपोर्ट गाईड, काठमाण्डू साइटसीन, कैलास परिक्रमा, परमिट तिब्बत, चीन का वीजा, प्राथमिक उपचार, आॅक्सीजन, आदि.....
मानसरोवर यात्रा के किराये में सम्मिलित नहीं है- घोड़े से कैलाश परिक्रमा का खर्च, मौसम खराब होने पर या अनावश्यक खर्च सम्मिलित नहीं है, जैसे स्वास्थ्य अनुकूल न होने पर यात्री को वापस काठमाण्डू भेजने की स्थिति पर खाने, रहने एवं वाहन का खर्चा यात्राी द्वारा अतिरिक्त देय होगा, वह इस किराये में सम्मिलित नहीं है। दिल्ली में रेलवे स्टेशन से होटल एवं होटल से AIR PORT एवं AIR PORT से रेलवे स्टेशन। मानसरोवर यात्रा में आवश्यक सामग्री - 3 से 4 जोड़ी कपड़े- टी-शर्ट, महिलाएं पंजाबी सूट लेवें- साड़ी न लें। गरम स्वेटर फुल स्लीप, हाफ स्लीप जैकेट, वीन्ड चीटर, ऊनी मफलर, मंकी कैप, 2 जोड़ी ऊनी मोजा, काॅटन ऊनी दस्ताने, रेनकोट, शाॅल, सन ग्लासेस। मॉर्निग किट- ब्रश, पेस्ट, साबुन नहाने व धोने  के रुमाल, नेपकीन, कंघा। फर्स्ट  ऐड- विक्स, विक्स इनहेलर, हेयर आॅइल, पुदीनहरा, लिपगार्ड , काॅटनरोल, विटामिन-सी गोली,  टाॅयलेट रोल एवं अपनी आवश्यक दवाएँ साथ लाएँ। साथ रखें-( चना, नमकीन, चाॅकलेट, बिस्किट, मिल्क चाॅकलेट, सूजी का सूखा हलवा आदि)। ;खाने की समस्त सामग्री का उल्लेख विषम परिस्थितियों के लिए है। पूजा-पाठ- रुद्राक्ष माला, अगरबत्ती, घी व रुई भस्म, चंदन पाउडर, चावल, कुमकुम, माचिस, चांदी का बेलपत्रा इत्यादि महत्वपूर्ण चीज,  टाॅर्च साथ में अतिरिक्त सैल के साथ, ताला-चाबी,  सेफ्रटीपिन, सुई-धागा ,  हाॅट वाटर बोटल। महत्वपूर्ण दस्तावेज- पासपोर्ट व साथ में फोटो काॅपी, पहचान पत्र, डायरी जिसमें अपने निकटतम का फोन नम्बर । सफर में व्यवस्था- दिल्ली से काठमाण्डू सफर हवाई यात्रा में करनी होगी। नेपाल में सुविधापूर्ण  होटल में भारतीय भोजन व्यवस्था, बस द्वारा काठमाण्डू साइट सीन करायी जायेगी। नेपाल से कैलास मानसरोवर आने व जाने का सफर में 11 दिन लगते हैं। करीबन 1950 किमी. का सफर, प्रतिदिन-250 किमी. का सफर लक्ज़री बस द्वारा किया जाएगा ।  यात्रा का किराया प्रति व्यक्ति रुपया एक लाख दस हजार मात्र या अमेरिकन डालर 1,775/- (जब 1 डालर की कीमत 62 रूपया है) निर्धारित है । अग्रिम आरक्षण हेतु रुपया 50,000/- 60 दिन पूर्व देय होगा। शेष राशि भी यात्रा से तीस दिन पूर्व देय होगी। आॅनलाइन अग्रिम आरक्षण हेतु पर्यटक हमारे YTDO, PNB NAINITAL A/C NO. 2717002100006493 में भी जमा कर सकते हैं।
::नोट: यात्रा का व्यय डॉलर की कीमत के साथ घट- बड़ सकता है.::विशेष कारणवश यात्रा कार्यक्रम में परिवर्तन करने का वाईटीडीओ  को पूर्ण अधिकार होगा। किसी भी प्रकार की कानूनी कार्यवाही का क्षेत्र जिला न्यायालय नैनीताल होगा। Tour programme is subject to change according to the availability of accommodation on yatra route, In case of cancellation prior to 15 days of tour departure Rs. 30,000/- will deducted from the advance mo


ney as cancellation charges.